आज बुद्ध जयंती पर बन रहा है यह राजयोग, जरुर करें ये उपाय

शेयर करे

हर साल वैशाख मास की पूर्णिमा के दिन बुद्ध जयंती मनाई जाती है। जिस दिन भगवान बुद्ध ने इस धरती में जन्म लिया। हर साल की तरह इस साल की तरह भी बुद्ध जयंती मनाई जाएगी जो 18 मई 2019 को मनाई जाएगी।

बता दें महात्मा बुद्ध के रुप में भगवान विष्णु जी के 9वें अवतार लिया है। इस वजह से बुद्ध पूर्णिमा का पौराणिक महत्‍व भी माना जाता है। ज्‍योतिष की दृष्टि से इस साल बुद्ध पूर्णिमा को और भी शुभ माना जा रहा है। बुद्ध पूर्णिमा पर इस साल समसप्‍तक संयोग बनने के कारण इसका महत्‍व और बढ़ गया है।

आइए जानते हैं क्‍या है समसप्‍त‍क राजयोग और बुद्ध पूर्णिमा पर क्‍या करना होता है शुभ-
क्‍या है समसप्‍तक राजयोग-

इस साल बुद्ध पूर्णिमा के दिन समसप्‍तक योग बनने से यह दिन और भी मंगलकारी माना जा रहा है। समसप्‍तक योग में शुभ कार्यों के स्वामी देवगुरु बृहस्पति व नवग्रहों के राजा सूर्यदेव आमने-सामने रहेंगे। इन दोनों के आमने-सामने होने से समसप्तक राजयोग बनेगा। समसप्तक राजयोग होने के कारण 18 मई को सभी कार्यों में स्थायित्व के साथ उन्नति होगी। इस शुभ अवसर पर भूमि, भवन और वाहन की खरीद के साथ ही पदभार ग्रहण करना बहुत ही शुभ माना जाता है। नए काम की शुरुआत के लिए भी यह दिन बहुत शुभ माना जाता है।

स्‍नान का भी महत्‍व-

वैशाख पूर्णिमा पर गंगा में स्‍नान का भी महत्‍व बताया गया है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन गंगा घाट पर स्नान करने से कई तरह के पाप से मुक्ति मिलती है और जीवन में सुख-शांति व्याप्त होती है। इस दिन देश के कई स्‍थानों धार्मिक आयोजनों के साथ मेला भी लगता है।

वैशाख पूर्णिमा पर करें ये कार्य-

बुद्ध पूर्णिमा को वैशाख पूर्णिमा और सिद्ध विनायक पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। एक मान्‍यता है के अनुसार भगवान कृष्‍ण के परममित्र और बचपन के सखा सुदामा जब उनसे मिलने द्वारिका पहुंचे थे तो श्रीकृष्‍ण ने उन्‍हें वैशाख पूर्णिमा के व्रत व विधान को बताया था। दिन भर उपवास रखकर शाम को पूजा करने से विशेष फल मिलता है।

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *