विनायक चतुर्थी 2019 : साल की पहली गणेश चतुर्थी पर पूजा के साथ करें ये अचूक शास्त्रीय उपाय, तुरंत बदलेगी किस्मत

शेयर करे

आज पौष शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि और गुरुवार का दिन है। इसके साथ ही आज वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत है। आज के दिन भगवान गणेश की पूजा का विधान है। हमारी संस्कृति में गणेश जी को प्रथम पूजनीय का दर्जा दिया गया है।किसी भी देवी-देवता की पूजा से पहले भगवान श्री गणेश की पूजा का ही विधान है और आज तो स्वयं गणपति जी का ही दिन है। श्री गणेश को चतुर्थी तिथि का अधिष्ठाता माना गया है। इन्हें बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के देवता के रूप में पूजा जाता है। गणेश जी की उपासना शीघ्र फलदायी मानी जाती है।


दरअसल हर माह में दो चतुर्थी तिथि आती है, एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। शास्त्रों के अनुसार, चतुर्थी तिथि भगवान श्री गणेश को समर्पित है। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहते हैं जबकि शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहा जाता है। कई स्थानों पर विनायक चतुर्थी को ‘वरद विनायक चतुर्थी’ के नाम से भी जाना जाता है।जनवरी में विनायक चतुर्थी 10 जनवरी को है। इस दिन गणेश की उपासना करने से घर में सुख-समृद्धि, आर्थिक संपन्नता के साथ-साथ ज्ञान एवं बुद्धि प्राप्ति होती है।

शास्त्रों में विनायक चतुर्थी पर किए जाने वाले कई उपाय बताए गए हैं लेकिन हम आपको ऐसे खास और प्रभावशाली उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जो शायद आपको कहीं न मिले।

बाधा और संकट नाश के लिए

पीले वस्त्र धारण करके भगवान गणेश के समक्ष बैठें। उनके सामने घी का चौमुखी दीपक जलाएं। अपनी उम्र के बराबर लड्डू रक्खें। फिर एक एक करके सारे लड्डू चढ़ाएं।हर लड्डू के साथ “गं” कहते जाएँ। इसके बाद बाधा दूर करने की प्रार्थना करें। एक लड्डू स्वयं खा लें, बाकी बाँट दें।

इंटरव्यू अथवा परीक्षा में सफल होने के लिए

कच्चे सूत में सात गांठ लगाकर जय गणेश काटो क्लेश कहते हुए भगवान गणेशजी को समर्पित कर दें। उसके बाद उस धागे को अपने पर्स में रखें ऐसा करने से इंटरव्यू तथा परीक्षा में सफलता प्राप्त होती है।

भाग्य को अपने अनुसार बदलने के लिए

गणेश चतुर्थी पर शुद्ध पानी से गणपति का अभिषेक करें। इसक् बाद गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ कर मावे के लड्डू का भोग चढाएं भगवान से मन ही मन अपनी प्रार्थना कहें तुरंत लाभ होगा।

Source-Google

तुरंत धन प्राप्त करने के लिए

गणेश चतुर्थी के दिन सुबह स्नान कर धुले और साफ कपड़े पहनकर गणेशजी की पूजा करें इनको दूब (दूर्वा) की माला अर्पित करें ,साथ ही उन्हें शुद्ध घी और गुड़ का भोग लगाएं फिर “वक्रतुण्डाय हुं” का जाप करें। धन लाभ की प्रार्थना करें थोड़ी देर बाद घी और गुड़ गाय को खिला दें धन की समस्याएं दूर हो जाएंगी।

क्रोध को दूर करने के लिए

यदि आपको छोटी-छोटी बातों पर क्रोध आता है तो इसके लिए आप लंबोदर गणपति को लाल रंग का फूल चढाएं इससे आपका क्रोध दूर हो जाएगा।

इन मंत्रों से करें ‘विनायक’ की पूजा

विनायक चतुर्थी की पूजा करते समय गणेश जी के इन 10 नामों को पढ़ते हुए 21 दुर्वा उन पर जरूर चढ़ाना चाहि‍ए। ॐ गणाधिपाय नम, ॐ उमापुत्राय नम, ॐ विघ्ननाशनाय नम, ॐ विनायकाय नम, ॐ ईशपुत्राय नम, ॐ सर्वसिद्धिप्रदाय नम, ॐ एकदंताय नम, ॐ इभवक्ताय नम, ॐ मूषकवाहनाय नम,ॐ कुमारगुरवे नमः।

विनायक चतुर्थी के दिन इन मंत्रों से गणेश जी की पूजा करने पर गणेश जी अपने भक्‍तों को आशीर्वाद देते हैं। साथ ही भक्‍तों के कष्‍टों को दूर कर उनके जीवन में खुशियां भरते हैं

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *