शोध के जरिये हुआ खुलासा : आपके सुबह उठने का समय निश्चित करता है आपकी मौत का समय और दिन

शेयर करे

नींद की गड़बड़ी बहुत आम समस्या है। इससे दुनिया भर में बहुत सारे लोगों का जीवन मुश्किल हो रहा है। इससे गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो रही हैं। नींद से जुड़ी समस्याओं को कभी भी नजरअंदाज न करें, क्योंकि स्वस्थ और सही नींद जीवन में किसी अन्य चीज से कम महत्वपूर्ण नहीं हैं। नींद में गड़बड़ी पूरी सेहत के लिए बेहद नुकसानदेह साबित होती है। लंबे समय तक नींद में गड़बड़ी रहने से आपकी मानसिक सेहत भी बिगड़ सकती है और ऊर्जा भी कम हो सकती है।व्‍यक्ति को स्‍वस्‍थ रहने के लिए जिस प्रकार खाना, पानी, वायु या अन्‍य जरूरी तत्‍वों कर आवश्‍यकता होती है, इसी प्रकार उसके लिए पर्याप्‍त मात्रा नींद भी अतिआवश्‍यक है।

सामान्‍यत: व्‍यक्ति के लिए 24 घंटे में से 6 से 8 घंटे सोना बेहद आवश्यक होता है। अपर्याप्‍त मात्रा में सोने से व्‍यक्ति के स्‍वास्‍थ्‍य पर विपरित प्रभाव पडते है। अपर्याप्‍त मात्रा में सोने से व्‍यक्ति की दैनिक दिनचर्या पर भी विपरित प्रभाव पडते है जिसका खामियाजा व्‍यक्ति को कई प्रकार से भूगतना पड सकता है।वही हर व्यक्ति की सोने की आदत अलग अलग होती है जैसे की कुछ लोगों को रात देर तक जागने की आदत होती है तो वही कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनकी नींद अपने आप ही जल्दी खुल जाती है। आपने अकसर ये देखा होगा कि एक समय बाद आपके सोने और जागने का वक्त निर्धारित होता है ना तो आपको उससे पहले नींद आती है और ना ही आप उस निर्धारित समय के बाद सो सकते हैं।

Source-Google

आपको ये बहुत सामान्य लग रहा होगा लेकिन क्या आप इस बात से अवगत हैं कि आपके यही सोने और जागने का समय आपकी मौत का समय भी निश्चित करता है। कहने का आशय यह है कि आपकी मौत दिन के किस समय होगी यह आपकी दिनचर्या पर बहुत ज्यादा निर्भर करता है,हो सकता है आपको हमारी यह सब बातें व्यर्थ लग रही हों लेकिन इस बात पर कई बड़े बड़े वैज्ञानिकों ने शोध के जरिए पता लगाया है कि आपके सोने और उठने के समय के अनुसार ही आपके मृत्यु का समय भी निर्धारित हो जाती है |

आपको बता दे इस बात का खुलासा अमेरिका के हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के वैज्ञानिक एंड्रयू लिम के रिसर्च के जरिए हुआ है। इस शोध के जरिये ये बात सामने आई है की हमारे शरीर के अंदर भी एक घड़ी पाई जाती है और ये घड़ी हमारे सभी आदतों को पहचानती है और इन्ही आदतों के जरिये हमारे सोने और जागने का समय निर्धारित करती है |

Source-Google

शोध के अनुसार हम दिन भर में जो भी कार्य निर्धारित समय के अनुसार करते है वो सभी काम हमारे दिल के धड़कन से जुड़े होते है आर हर काम अपने समय पर निर्धारित होते है ठीक वैसे ही हमारे मृत्यु का भी एक समय निर्धारित किया गया है जिसके मुताबिक औसत के अनुसार सुबह के 11 बजे ज्यादातर लोगों की मौत होती है लेकिन हम यह बात केवल रिसर्च के मुताबिक आपको बता रहे है,ना की इस रिसर्च का समर्थन कर रहे हैं|

इस शोध के अनुसार बताया गया है की जो व्यक्ति लगातार 12 राते 6 घंटे से कम की नींद लेता है उसकी हालत बिल्कुल एक शराबी की तरह हो जाती है और उसकी याद करने के छमता भी कम होने लगती है साथ ही व्यक्ति दिन पर दिन कमजोर होता जाता है और ऐसे लोगो की मौत बेहद कम उम्र में होने की सम्भावना बढ़ जाती है और वही जो व्यक्ति रोजाना 8 घंटे की पर्याप्त नींद लेता है वह काफी लम्बी जिंदगी जीता है साथ ही स्वस्थ भी रहता है |इसीलिए हम सबकी एक लम्बा और स्वस्थ जीवन जीने के लिए पर्याप्त नींद लेना बेहद जरूरी है |

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *