जानें क्या है इसके पीछे असली वजह,महिलाओं को नाक छिदवाना क्यूँ है अनिवार्य

शेयर करे

सबसे पहले आपको बता दें की दुनिया भर के तमाम देशों से सबसे ज्यादा गहनों का शौक भारतीय महिलाओं में ही देखा गया है. इंडिया में आपको महिलाओं के लिए तमाम तरह के आभूषण देखने को मिल जाएंगे जिनमे से बहुत से ऐसे गहने हैं जो की महिलाओं को पहनना अनिवार्य माना जाता है जैसे की नाक में पहने जाने वाला नोज पिन, पायल, मंगलसूत्र, चूड़ा और इअरिंग आदि. बता दें की इनमे से कुछ गहने ऐसे हैं जिसे शादी शुदा महिलाओं को पहनना बेहद आवश्यक माना जाता है. भारतीय संस्कृति और परंपरा के अनुसार हर लड़की को नाक छिदवाना अनिवार्य है, नाक की नथ पहनने से किसी लड़की या महिला की खूबसूरती में चार-चांद लग जाते हैं.

बता दें कि कई जगह तो ऐसी परंपरा होती है कि जबतक लड़की नाक ना छिदवाए तबतक उनकी शादी नहीं होती, शादी के लिए एक शर्त नाक छिदवाना भी होता है, लेकिन कभी आपने सोचा है कि आखिर क्यों नाक धिदवाना इतना जरूरी होता है? आखिर क्यों भारत की हर लड़की नाक धिदवाती है  लोग यहीं मानते हैं की महिलाएं नाक में गहने इसलिए पहनती हैं की क्यूंकि ये बहुत पहले से ही  समाज का हिस्सा रहा है और आज महिलाओं में नोज पिन पहनना एक ट्रेंड बन चुका है. हम आपको महिलाओं के नाक छिदवाने के पीछे की असली वजह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप भी ये समझ जाएंगे की वास्तव में हिन्दुस्तानी महिलाओं का नाक छिदवाना कोई ट्रेंड नहीं बल्कि रिवाज है

Source-Google

आपको जानकर हैरानी होगी की असल में हमारे देश में नाक चिद्वाने की प्रथा 16 वीं सदी में पूर्वी देशो से अपनाई गयी थी और इसके काफी सारे फायदे भी बताये गये हैं. बता दें की पुराने जमाने में महिलाओं का नाक छिदवाना इसलिए बेहद आवश्यक माना जाता था क्यूंकि ऐसा माना जाता था की नाक छिदवाने से महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाली दर्द से भी काफी हद टक राहत मिलती है और इसके साथ ही साथ शारीर वापिसे होरमोन को भी कण्ट्रोल करती है जो की बॉडी में किसी प्रकार का दर्द उत्पन्न करते हैं. विशेषयगों की माने तो महिलाओं में नाक छिदवाने बिल्कुल वैसे ही काम करता है जैसे की बॉडी से दर्द दूर करने के लिए चाइना में एक्युप्रेसर का इस्तेमाल किया जाता है.

Source-Google

आपको बता दें की भारत के बहुत से पौराणिक वेदों और किताबों में ऐसा लिखा गया है की महिलाओं को नाक जरूर छिदवाना चहिये क्यूंकि इससे उनके माशिक धर्म के दौरान होने वाला दर्द तो कम होता ही है साथ ही साथ प्रेग्नेंट महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान भी काफी राहत मिलती है. इतना ही नहीं बल्कि नाक छिदवाने का एक फायदा ये भी है की ये माईग्रेन जैसे दर्द से भी जल्द राहत देता है. इसके आलवा आपको बता दें की नाक कोई भी कभी भी छिदवा सकता है इससे ना तो कोई साइड इफ़ेक्ट होता है और ना ही कोई अन्य प्रकार के सेप्टिक का होने का डर रहता है. यहाँ तक की कोई महिला अपनी प्रेगनेंसी के दौरान भी नाक छिदवा सकती है बस ध्यान रखने वाली बात ये है की आप जिस जिस नाक छिदवा रहे हों उसका साफ़ होना जरूरी है वर्ना इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है.

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *