ओडिशा में चक्रवाती तूफान ‘फानी’ ले सकता है विकराल रूप, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट !

शेयर करे

चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ ओडिशा के तटीय इलाकों के लिए एक बड़ा खतरा बनकर उभर रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में मौजूदा चक्रवात लगातार ताकतवर होता जा रहा है। मंगलवार को सेटेलाइट से मिली तस्वीरों और रडार से मिली सूचना के आधार पर यह तय माना जा रहा है कि चक्रवाती तूफान फाेनी 4 मई की सुबह पुरी के आसपास लैंडफॉल करेगा। तब तक यह अति भीषण चक्रवाती तूफान होगा। हवा की रफ्तार 160 किमी प्रति घंटे से लेकर 170 किमी प्रति घंटे की होगी। इसके झोंके 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक जा सकते हैं। साइक्लोन के चलते ओ़डिशा के पूरे के पूरे कोस्टल इलाके में हाई अलर्ट कर दिया गया है।

सेटेलाइट से मिली तस्वीरों और रडार से मिली सूचना के आधार पर यह तय माना जा रहा है, चक्रवाती तूफान फोनी 4 मई की सुबह पूरी के आसपास लैंडफॉल करेगा। जब यह तूफान ओ़डिशा मैं पुरी के तट से टकरा रहा होगा, यह अति भीषण चक्रवाती तूफान होगा।

फानी की वजह से केरल और ओडिशा में भारी बारिश और आंधी की आशंका है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में भी हल्की बारिश और आंधी की आशंका जाहिर की गई है। लगातार बढ़ रही इस चक्रवाती तूफान की रफ्तार को देखते हुए भारतीय सेना और नौसेना को इससे निपटने के लिए अलर्ट पर रखा गया है।

तीनों ही सेनाओं की राहत टीमें बनाई गई हैं जो इमरजेंसी की स्थिति में तेज़ी से राहत पहुंचाने के लिए स्टैंडबाय पर हैं। अधिकारियों ने बताया कि मौसम के इस रुख को देखते हुए सरकार ने राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया (NDRF) बल और भारतीय तटरक्षक बल को भी हाई अलर्ट पर रखा है।

फानी तूफान : मोदी ने की सुरक्षा एवं बेहतरी के लिए प्रार्थना, केरल में तेज बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात चेतावनी विभाग ने कहा कि तूफान फिलहाल श्रीलंका में त्रिंकोमाली के पूर्व-उत्तर पूर्व में 620 किमी, चेन्नई के 770 किमी-दक्षिण-पूर्व में और मछलीपट्टनम से 900 किमी दक्षिण-दक्षिण-पूर्व में है। गौरतलब है की सोमवार को पीएम मोदी ने तूफान ‘फानी’ के कारण बन रही स्थिति पर चिंता जताते हुए अधिकारियों से एहतियाती कदम उठाने एवं सहायता उपलब्ध कराने को कहा है।

मोदी ने ट्वीट किया, “फानी तूफान के कारण बन रही स्थिति के संबंध में अधिकारियों से बात की। उनसे एहतियाती कदम उठाने और हर संभव मदद के लिए तैयार रहने को कहा है। साथ ही उनसे प्रभावित राज्यों की सरकारों के साथ करीब से काम करने की अपील की है। हर किसी की सुरक्षा एवं बेहतरी के लिए प्रार्थना कर रहा हूं।”

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *