अमृतसर रेल हादसा: ट्रेन से कटकर 61 की मौत, पंजाब में आज राजकीय शोक, बंद रहेंगे स्कूल-दफ्तर

शेयर करे

पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को रावण दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आकर 61 लोगों के मरने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इस घटना में 72 लोग घायल हो गए, जिनमें से कुछ की हालत गंभीर है। वहीं मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में एक दिन के राजकीय शोक का ऐलान किया है। साथ ही शनिवार को राज्य के सभी स्कूल-कॉलेजों के साथ सरकारी ऑफिसों को भी बंद रखने के आदेश जारी किए हैं।

पीड़ितों के शवों को कानूनी कार्यवाही पूरी होने के बाद शनिवार को प्रभावित परिवारों को दिया जाएगा। अमृतसर पुलिस आयुक्त एस एस श्रीवास्तव ने मीडिया को बताया कि शुक्रवार देर रात बचाव कार्य पूरा हो जाने के बाद पुलिस ने पूरी स्थिति का आकलन किया।

पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने शनिवार को मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ट्रेन ड्राइवर, रेलवे अधिकारियों और स्थानीय प्रशासन की जांच की जा रही है। शनिवार सुबह बड़ी संख्या में लोगों को घटनास्थल पर घूमते देखा गया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जिस वक्त ट्रेन गुजरी उस समय पीड़ित रावण दहन देख रहे थे और इसका अपने मोबाइल से वीडियो बना रहे थे।

उधर स्थानीय लोगों ने कहा कि नवजोत सिंह यहां से विधायक हैं और मंच पर उनकी पत्नी भी मौजूद थी लेकिन वो घटना के बाद मदद करने की जगह भाग गईं। आरोपों का दौर शुरू होने के बाद सिद्धू की पत्नी ने सफाई देते हुए कहा है कि वे घायलों से मिलने के लिए अस्पताल चली गईं थी।

उन्होंने कहा कि रावण का पुतला जलाया गया और जब हादसा हुआ तो मैं निकल चुकी थी। घायलों का इलाज कराना प्राथमिकता है। जो लोग हादसे पर राजनीति कर रहे हैं उन्हें शर्म आनी चाहिए।

शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *