गणेश चतुर्थी पर ना करे चंद्रमा के दर्शन, लगता है पाप बढ़ जाती है मुश्किलें

शेयर करे

भगवान गणेश के बारे में हर कोई जानता है वहीं सभी यह भी जातने हैं कि इनका स्थान प्रथम पूजनीय पर है। इस बार भगवान गणेश जी त्योहार बेहद ही धूमधाम से मनाया जाएगा, इस बार यह त्योहार 2 सितंबर 2019 को मनाया जाएगा।

हालांकि यह तिथि सबसे श्रेष्ठ व महत्वपूर्ण तिथी के रूप में माना जाता है लेकिन इस दिन को लेकर एक ऐसी मान्यता है जिससे व्यक्ति डर कर रहता है। दरअसल इस दिन रात्री में गलती से भी चंद्र दर्शन करने की मनाही है क्योंकि कहा गया है कि इस दिन चंद्र दर्शन करने से जीवन भर का कलंक लग जाता है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं जिसे कर लेने आप पर से ये कलंक हट जाता है।

यदि भूल से चन्द्र दर्शन हो जाए तो उसके निवारण के लिए ये उपाय करें

-ध्यान रहे अगर कभी गलती से भी आप इस दिन चन्द्र दर्शन की लेते हैं तो इस श्‍लोक का भाद्रशुक्लचतुथ्रयायो ज्ञानतोअज्ञानतोअपिवा। अभिशापीभवेच्चन्द्रदर्शनाद्भृशदु:खभाग्॥ का पाठ करें क्योंकि ऐसा करने से अनजाने में ही भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को चंद्रमा का दर्शन किए हुए व्यक्ति को पाप से मुक्ति मिल जाएगा।

-अगर ऐसा हो तो भागवत की स्यमंतक मणि की कथा सुने या फिर पाठ करें। इसके अलावा आप चाहे तो एक पत्थर अपने पड़ोसी की छत पर फेंक दे। मान्यता है कि ऐसा करने से आप इस पाप से मुक्त हो जाएगे।

-इसके अलावा आप चाहे तो इस कलंक से बचने के लिए आप रात के समय मुहं नीचे करके और आंखें बंद करके आकाश में स्थित चाँद को आईना दिखाएँ और फिर आईने को किसी चौराहे पर ले जाकर फेंक दे।

-शाम के समय सूर्यास्त से पहले किसी पात्र में दही में शक्कर फेंट लें और इस घोल को किसी दोने में रख लें। अब इस घोले में अपनी शक्ल देखकर अपनी समस्याएँ मन ही मन कहें। इसके बाद इस घोल को किसी श्वान को खिला दें।

शेयर करे