गणेश चतुर्थी – गणपति स्थापना एवं सरल पूजा विधि !

शेयर करे

सबसे पहले आप सभी के लिए गणेश चतुर्थी की बहुत बहुत शुभकामनाएं और बधाइयां . इस बार महा गणेश चतुर्थी पर गणेश जी की स्थापना का जो दिन है वह होगा 2 सितंबर 2019 सोमवार के दिन.

Ganesh 1
Source: Google

दोस्तों, हमारे हिंदू धर्म के अनुसार गणपति पूजा का विशेष महत्व है अतः इस पूजा में किसी तरह की गलती नहीं होनी चाहिए. प्रतिवर्ष गणेश चतुर्थी पर गणेश जी की स्थापना की जाती है और उनकी उनका पूजन किया जाता है. गणेश चतुर्थी पर स्थापना के बाद उनको फल, मोदक, मेवा, मिठाई, फूल , भोग आदि चढ़ाए जाते हैं। अपनी-2 श्रद्धा के अनुसार लोग 1,3,5,7,9 और 11 दिन के लिए गणपति को अपने घर स्थापित करते हैं, उनकी पूजा करते हैं और उसके बाद अनंत चौदस वाले दिन उनको विसर्जित करते हैं.

हिंदू धर्म में बुधवार का दिन गणेश जी का माना जाता है. इसलिए किसी को भी गणेश जी का पूजन करना होता है तो बुधवार का दिन सबसे शुभ माना गया है. लेकिन गणेश चतुर्थी का अपना अलग ही महत्व है. आज हम गणेश जी के पूजन की विधि बताने जा रहे हैं जिसके अनुसार पूजा करके आप गणेश जी की कृपा प्राप्त कर सकते हैं. गणेश चतुर्थी को कलंक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है. प्रतिवर्ष भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन यह त्योहार मनाया जाता है.

नित्य क्रियाओं से निवृत्त होकर साफ-सुथरे कपड़े पहन कर पूजा प्रारंभ करें। सबसे पहले किसी साफ-सुथरे स्थान को गंगा जल छिड़ककर शुद्ध करके गणेश जी के आसन पर थोड़ी सी अक्षत रखकर उनकी मूर्ति स्थापित करें। साथ ही मूर्ति के पास एक कलश की स्थापना करें इस कलश में नारियल को लाल कपड़े में बांधकर लगाना है ,साथ ही आम के पत्ते भी लगाने है. अब गणेश जी की मूर्ति के सामने एक आसन बिछाकर बैठ जाइए। अब आसन पर बैठकर पूजा करने का संकल्प लें. संकल्प करते समय हाथ में जल, पुष्प, और अक्षत लें और संकल्प लेते समय उस वर्ष का नाम, दिन का नाम. दिनांक का नाम और जगह का नाम ले. साथ ही अपने गौत्र का नाम, अपना नाम और अपनी मनोकामना बोले।

पूजा करने के बाद 108 बार “ओम गणेशाय नमः” मंत्र का जाप करें। उसके बाद पूजा की थाली में एक पान का पत्ता रखकर उस पर कपूर जलाकर गणेश जी की आरती करें. आरती समाप्त होने के पश्चात गणेश जी से हाथ जोड़कर पूजा में हुई गलतियों के लिए क्षमा मांगे और उनसे प्रार्थना करें कि वह आपकी पूजा स्वीकार करें।दोस्तों इस विधि से पूजा करेंगे तो अवश्य ही गणेश जी आप पर अपनी कृपा बनाये रखेंगे।

शेयर करे