कामवासना जगाने के लिए इसका सेवन करते थे राजे-महाराजे, जिसके बाद एक राजा कई-कई रानियों के साथ…

शेयर करे

प्रकृति ने मानव की रचना करने से पहले मानव के रख रखाव और उसके उपयोग में लाइ जाने वाली चीजो की रचना की हैं ।आपने कही ना कही अवश्य  सुना होगा की कोई चीज बेकार नही होती, यदि आपके लिए कोई चीज बेकार हैं तो हो सकता हैं वह किसी के लिए औषधि हो, पहले के जमाने में ना कोई डॉक्टर था और न कोई ऐसी थिरेपी, लोग बस आर्युवेदिक तरीके से अपने रोगों का इलाज करते थे ।

आज भी हम आपको एक ऐसी औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके नियमित सेवन से आप किसी भी प्रकार की शारीरिक कमजोरी से छुटकारा पा सकते हैं । हमारे आर्युवेदिक में कई ऐसी चीजे बताई गयी हैं जो मानव के लिए अति हितकर हैं ।

मानव जीवन में कई कामो के अलावा शारीरिक सम्बन्धो का भी काफी महत्त्व होता हैं ।आपने कही ना कही अवश्य पढ़ा होगा की यदि पत्नी और पत्नी के बीच कामेच्छा की तृप्ति ना हो तो रिश्तो में खटास भी पड़ जाती हैं ।

ऐसा अक्सर देखा गया हैं की भागदौड़ और तनाव भरे माहौल में कई लोगो की मर्दाना ताकत कमजोर हो जाती हैं जिससे वह बिस्तर पर मनचाहा सम्बन्ध नही बना सकते । आज हम ऐसे ही लोगो के लिए एक ऐसी  आर्युवेदिक जड़ी की जानकारी लाये हैं जिसको कभी राजे महाराजे अपनाते थे और कई कई रानियो के साथ संबंध बनाते थे ।

इस जड़ी का नाम हैं सफेद मुसली। आपकी जानकारी के लिए बता दे की सफेद मुसली मात्र मर्दाना ताकत को नही बढाती बल्कि इससे जुड़े कई और फायदे भी पहुंचती हैं ।परन्तु इसका इस्तेमाल अधिकतर शादीशुदा लोग या किसी गुप्त रोग से ग्रसित पुरुष ज्यादा करते हैं।

सफेद मुसली के बारे में बताया जाता हैं की इसको खाने वाले व्यक्ति का प्रतिरक्षा तन्त्र पावरफुल बन जाता हैं । इसके सेवन से ना केवल बाहरी कमजोरी बल्कि शरीरी के अंदर की कमजोरी भी दूर हो जाती हैं ।यदि कोई व्यक्ति सफेद मुसली का नियमित सेवन करे तो उसको खुद एक असमिति शक्ति का एहसास होने लगता हैं और यही नही बेजान शरीर में भी शक्ति का संचार होने लगता हैं ।पहले जमाने के राजा महाराजा अपनी शारीरिक क्षमता को बढाने के लिए इसी सफेद मुसली का सेवन किया करते थे ।

शेयर करे