Kanpur Double Murder: कहीं अस्मत बचाने में तो नहीं गई पति-पत्नी की जान, जानकार थे कातिल

शेयर करे

रेलबाजार थानांतर्गत जीटी रोड स्थित लोको कॉलोनी के रेलवे ग्राउंड में बने क्वार्टर के बाहर सो रहे दंपती की हत्या करने वाले जानकार थे, वो परिवार के करीबी भी हो सकते हैं और इनकी संख्या दो से चार तक होने की आशंका है। बरामदे के दूसरे कमरे में महिला का निर्वस्त्र शव मिलने से संदेह यह भी है कि पत्नी की अस्मत बचाने का प्रयास करने पर पहले पति को मारा गया और फिर दुष्कर्म के बाद पहचाने जाने के डर से पत्नी की भी हत्या करके कातिल फरार हो गए। मौके पर मिले संघर्ष के निशान देखने से लग रहा है कि सोते समय विष्णु पर सीमेंटेड पत्थर से हमला किया गया। पत्नी शालू की नींद खुलने व शोर मचाने पर बदमाश घसीटकर कमरे में ले गए। यह तथ्य फॉरेंसिक टीम की प्रारंभिक जांच में सामने आए हैं।

विष्णु के चार दोस्त हिरासत में

आशंका जताई जा रही है कि दुष्कर्म करने के बाद पहचाने जाने के डर से उन्होंने शालू को भी मार दिया, उसकी झुमकी व अन्य जेवर सुरक्षित मिले हैं। इससे लग रहा है कि कातिल जानकार थे। कातिलों को यह बात मालूम थी कि दंपती सुनसान मैदान में रात में चटाई बिछाकर सोए हुए हैं। इसीलिए आते ही उन्होंने दंपती को दबोच कर वारदात को अंजाम दिया और भाग निकले। पिता के कमरे के दरवाजे की कुंडी बाहर से बंद कर दी, जिससे नींद खुलने पर वह फौरन बाहर न आ सकें। पुलिस ने इसी आधार पर विष्णु के तीन दोस्तों समेत आठ को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है, जबकि घर पर नहीं मिले दो दोस्तों की तलाश में टीमें लगाई गई हैं।

नशा करता था विष्णु, आते थे दोस्त

पिता ने बताया कि बेटा विष्णु कभी-कभी गांजा का नशा भी करता था। उसके तीन-चार दोस्त आते-जाते थे। एक दोस्त ने बताया कि रक्षाबंधन के लिए रविवार को उसने विष्णु को 300 रुपये उधार दिए थे। उसके साथ ही दो अन्य दोस्तों को भी पुलिस ने थाने में बैठा लिया है। उसके दो दोस्त घरों पर नहीं मिले। वह घटनास्थल पर भी नहीं पहुंचे थे। उनकी तलाश की जा रही है। इसके साथ ग्राउंड में नशेबाजी करने वाले पांच अराजकतत्वों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। पुलिस को आशंका है कि वारदात में आसपास के ही किसी जानकार का हाथ है, जो ग्राउंड व पूरे क्षेत्र से भलीभांति वाकिफ थे। एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि संदिग्धों से पूछताछ में कुछ सुराग मिले हैं।

शेयर करे