शिया सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड, यूपी के अध्‍यक्ष वसीम रिजवी बोले: आतंकवादी बन रहे है मदरसों में पड़ने वाले बच्चे

शेयर करे

यूपी शिया सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी के अपने बयान में जो बात कही उसको सुनके सभी मदरसों और कट्टर मुसलमानो का खून खोल जायगा. रिज़वी ने मदरसों की शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि मदरसों की तालीम से बच्चे आतंकवादी बन रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि मदरसों से पढ़कर कोई इंजीनियर, डॉक्टर और आईएएस नहीं बनता पर कुछ मदरसों से पढ़कर बच्चे आतंकवादी जरूर बने हैं. उन्हें बम बनाने की शिक्षा दी जा रही है.

रिज़वी ने पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखकर मदरसों को सीबीएसई, ईसीसीई और राज्य शिक्षा बोर्ड से जोड़ने की मांग की है. उनके मांग कुछ मुस्लिम संघ सही बता रहे है और उनके रिज़वी की बात से इत्तेफ़ाक़ रखते हैं।

उन्होंने कहा कि धार्मिक शिक्षा को वैकल्पिक बनाना चाहिए. मदरसों को आधुनिक शिक्षा का केंद्र बनाने की जरूरत है, जिससे उसमें सिर्फ मुस्लिम बच्चे ही नहीं बल्कि दूसरे धर्मों के छात्र भी आकर पढ़ें. रिजवी ने कहा कि सरकार इन पहलुओं पर ध्यान देती है तो इससे हमारा देश और भी मजबूत बनेगा.

ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने उन्हें सबसे बड़ा जोकर करार दे दिया है और कहा कि वसीम रिजवी सबसे बड़े मौकापरस्त हैं और उन्होंने अपनी आत्मा आरएसएस को बेच दी है. ओवैसी ने रिजवी को चुनौती दी कि वो ऐसा एक भी मदरसा दिखाएं जहां छात्रों को आतंकवादी बनना सिखाया जाता है. उन्होंने कहा कि रिजवी के पास अगर इसका कोई सबूत है तो वो देश के गृह मंत्री के पास जाकर उसे पेश करें.

पिछले कई सालों में वैसे कई मामले सामने आये है जिसमे मदरसों में कट्टरपंथी शिक्षा देने की बातें सामने आये हैं और इस बात में भी सत्यता है की मदरसों में पड़ने वाले मुस्लिम बच्चे जल्दी गुमराह हो जाते हैं , इसलिए इसमे रिज़वी के बयान को बहुत बड़ा माना जा रहा है।

शेयर करे